BJP-RSS द्वारा फैलाई गई नफरत के खिलाफ खड़ा होना हमारा लक्ष्य, जम्मू-कश्मीर को मिले पूर्ण राज्य का दर्जा: राहुल गांधी – Navjivan

Follow Us
राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा अपने अंतिम पड़ाव पर है। तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई ये यात्रा इस वक्त जम्मू-कश्मीर में है। आज इस यात्रा का 130वां दिन है। भारत जोड़ो यात्रा 30 जनवरी को श्रीनगर में शेर-ए-कश्मीर मैदान में संपन्न होगी।
‘भारत जोड़ो यात्रा’ 130वें दिन राहुल गांधी की अगुवाई में सितनी बाइपास नगरोटा से उधमपुर के लिए रवाना हुई। इस यात्रा के बीच राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। राहुल गांधी ने कहा कि ये यात्रा मेरे लिए तपस्या है। उन्होंने कहा कि जब हम ये यात्रा निकाल रहे हैं तो इसे लेकर राजनीति तो होगी ही।
राहुल गांधी ने कहा कि ये यात्रा हमने कन्याकुमारी से शुरू की। ये यात्रा फिलहाल जम्मू-कश्मीर में है। इस यात्रा का लक्ष्य देश को जोड़ने का है नफरत मिटाने का है। जो माहौल बीजेपी आरएसएस ने नफरत का माहौल फैलाया है उसके खिलाफ खड़े होने का लक्ष्य है। राहुल गांधी ने दोहराया कि चुने हुए लोगों के हाथों में देश का धन दिया गया। जिसके कारण महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर की बात करें तो यहां पूर्ण राज्य का मुद्दा है। हमारी कोशिश है कि एक बार फिर जम्मू-कश्मीर का लोकतंत्र जिंदा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में लोगों का दुख दर्द समझने को मिल रहा है। काफी अच्छी ये यात्रा रही है। कुछ ही दिनों में हम श्रीनगर पहुंच जाएंगे।
भारत जोड़ो यात्रा जैसा अभियान आगे भी कांग्रेस चलाने जा रही है इस सवाल का जवाब देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि आगे क्या होगा ये यात्रा के बाद होगा, पहले यात्रा पूरी हो जाए उसके बाद फैसला लेंगे, फिलहाल हमारा फोकस यही यात्रा है। जिस काम के लिए निकले हैं उसी पर केंद्रीत होना चाहिए। धारा 370 पर राहुल गांधी ने कहा कि इस मुद्दे पर कांग्रेस की सोच एक दम साफ है।
हाल ही में राजनाथ सिंह के भारत जोड़ो यात्रा को लेकर की गई टिप्पणी पर राहुल गांधी ने कहा कि मैं किसी से नफरत नहीं करता। राहुल गांधी ने कहा कि अगर आप इस यात्रा को देखेंगे तो आपको पता चल जाएगा कि ये यात्रा नफरत की है या प्यार की। इस यात्रा में प्यार के अलावा इस देश की जनता ने कुछ नहीं देखा। राजनाथ के बयान का जवाब देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि भारत को जोड़ने वाली ये यात्रा कैसे किसी को नुकसान पहुंचा सकती है। मैं उनकी सोच से हैरान हूं।
राहुल गांधी ने कहा कि मैंने कल कश्मीरी पंडितों के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। उन्होंने व्यक्त किया है कि उन्हें लगता है कि उनका अपमान किया जा रहा है और राजनीतिक लाभ के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने मुझसे संसद में अपने मुद्दों को उठाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि गवर्नर ने हमारा अपमान किया। हमें वापस श्रीनगर भेजा जा रहा है, वहां हमारे लोगों को गोली मारी जा रही है। अब वो मेरे पास आए और मैं उनकी बात न उठाऊं तो फिर ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का मतलब क्या है?
Google न्यूज़, नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें
प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia

source

About Summ

Check Also

‘We bow at the altar of Groundhog Day’: concept copycats celebrate its 30th birthday – The Guardian

As the classic Bill Murray time-loop romcom reaches 30, and the imitators that reuse its …