Aligarh News : भाई बोला, टिंकल उसके साथ खेल रही थी जिसे जाहिद बुलाकर … – दैनिक जागरण (Dainik Jagran)

Aligarh News टप्‍पल में बच्‍ची की हत्‍या के मामले में कोर्ट ने आरोपित को दोषी करार दिया हैै जिससे स्‍वजन को थोड़ा सुकून जरूर मिला है। मामले में बच्ची के पिता व बाबा के बाद सबसे महत्वपूर्ण टिंकल के साथ रहे उसके 10 वर्षीय भाई की गवाही थी।

अलीगढ़, जागरण संवाददाता। Aligarh News : टप्पल में बच्ची की हत्या की घटना के बाद जिस तरह सभी लोग सिहर गए थे। ठीक उसी तरह मंगलवार को फैसले की तारीख पर सब लोग शांत होकर इंतजार कर रहे थे। दोपहर बाद अदालत ने आरोपित को दोषी करार दिया तो स्वजन को कुछ हद तक सुकून जरूर हुआ। इस मामले में बच्ची के पिता व बाबा के बाद सबसे महत्वपूर्ण टिंकल के साथ रहे उसके 10 वर्षीय भाई की गवाही थी। उसने अदालत को बताया था कि टिंकल उसके साथ खेल रही थी। तभी जाहिद बिस्किट देने के बहाने टिंकल को अपने साथ ले गया था। फिर टिंकल लौटकर नहीं आई।

जब ये घटना हुई तो पूरे देश में गुस्सा था। बालीवुड सितारों व राजनीतिक हस्तियों ने इंटरनेट मीडिया पर आक्रोश जताया था। 24 घंटे के अंदर 50 हजार से अधिक ट्वीट किए गए थे। इनमें अनुपम खेर, सोमन कपूर, सिद्धार्थ मल्होत्रा, जेनेलिया देशमुख, क्रिकेटर शिखर धवन आदि शामिल रहे थे। इसके बाद अनशन तक हुआ। कई दिन पर पुलिस प्रशासन ने डेरा जमाए रखा था। हालांकि मामले में कोरोना काल के चलते लंबे समय तक सुनवाई नहीं हो सकी थी। इसके बाद पुलिस की ओर से फोरेंसिक रिपोर्ट पेश करने में देरी हुई। वहीं विवेचक को कई बार समन, वारंट भेजने के बाद गवाही कराई थी। मामले में शुरू में पाक्सो की धारा जोड़ी गई थी, मगर फोरेंसिक जांच में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई। ऐसे में केस में हत्या की धारा ही रह गई। पुलिस ने हत्या, साजिश रचने की धारा में आरोप पत्र दाखिल किया था। मामले में कुल 12 गवाह कराए गए। इसमें सबसे महत्वपूर्ण बच्चे की गवाही थी।


बच्ची के दादा कन्हैया लाल हर तारीख पर अदालत आते थे। जब मंगलवार को फैसला आना था, तो वे सुबह ही आ गए। टिंकल के पिता बनवारी लाल भी साथ थे। आरोपित के दोषी करार होने पर बनवारी ने कहा कि मैं इससे असंतुष्ट हूं। चारों आरोपित दोषी है। इसे साबित करने के लिए मैं आखिरी दम तक लड़ूंगा। हाईकोर्ट में अपील की जाएगी।

​​​​​इसे भी पढ़ें :  *Aligarh News : दाऊद और श्रीप्रकाश शुक्ला की तरह डान बनना चाहता था मुनीर, एएमयू में नाम से कांपते थे छात्र*

बनवारी के परिवार में टिंकट इकलौती बेटी थी। वर्ष 2018 में बनवारी की पत्नी गर्भवती हुईं। लेकिन, गर्भ में ही बेटे की मौत हो गई। फिर अगले साल टिंकल की जान चली गई। इसके बाद उन्हें कोई बच्चा नहीं हुआ। बनवारी का परिवार जीवनभर इस गम से उबर नहीं पाएगा।
इसे भी पढ़ें *Aligarh News : अधिक गहराई तक मिट्टी निकालने से पुलिया का एक हिस्‍सा गिरा, मलबे के साथ डंपर भी गिरा नाले में*

टप्पल में बच्ची की हत्या में अदालत ने मुख्य आरोपित को दोषी करार दिया है। तीन आरोपित दोषमुक्त हुए हैं। इसमें कड़ी से कड़ी सजा की मांग की जाएगी।
– प्रमेंद्र जैन, एडीजीसी

Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.

source

About Summ

Check Also

Up 30,000% Since Its IPO, Is Netflix Done? – The Motley Fool

Founded in 1993 by brothers Tom and David Gardner, The Motley Fool helps millions of …