हरियाणा में एक अगस्त से शुरू होंगी खेल नर्सरियां निदेशक ने सभी डीएसओ को दिए आदेश.. – दैनिक जागरण (Dainik Jagran)

खेल विभाग अब एक अगस्त से प्रदेशभर में खेल नर्सरियां शुरू करने जा रहा है। इन खेल नर्सरियों का संचालन करने के लिए खेल एंव युवा कार्यक्रम विभाग हरियाणा के खेल निदेशक पंकज नैन ने सभी जिला खेल एंव युवा कार्यक्रम अधिकारियों की वीसी से मीटिंग ली है।

पवन सिरोवा, हिसार : अब खिलाड़ियों की खेल प्रतिभा को निखारने और खेलों को बढ़ावा देने के लिए खेल विभाग अब एक अगस्त से प्रदेशभर में खेल नर्सरियां शुरू करने जा रहा है। इन खेल नर्सरियों का संचालन करने के लिए खेल एंव युवा कार्यक्रम विभाग हरियाणा के खेल निदेशक पंकज नैन ने सभी जिला खेल एंव युवा कार्यक्रम अधिकारियों की वीसी से मीटिंग ली है। जिसमें उन्हें इन खेल नर्सरियों को शुरू करने के संबंध में दिशा निर्देश जारी किए गए है। उन्हें नर्सरी के संबंध में कहा है कि इन्हें एक अगस्त से शुरू करवाने के लिए कार्य शुरू करें। जिन्हें भी खेल नर्सरियां अलाट हुई हैं वो खोली जाएंगी।

जनवरी 2022 में मांगे थे आवेदन
खेल को बढ़ावा देने के लिए खेल विभाग ने हरियाणा खेल नर्सरी योजना के तहत जो भी संस्थान या अंतरराटष्ट्रीय खिलाड़ी एवं एनआईएस डिप्लोमा धारक प्रशिक्षक नर्सरी चलाना चाहता है उन्हें आवेदन करने थे। जिसमें प्रत्येक नर्सरी में 25 खिलाड़ी होने अनिवार्य थे। ऐसे में जिन्‍होंने आवेदन किए और खेल विभाग के मानकों पर खरे उतरे हैं। उन खेल नर्सरियों को अब सुचारू रूप से शुरू करवाया जाएगा। बता दें कि खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग द्वारा 1100 खेल नर्सरियां स्थापित करने की दिशा में कार्य कर रहा है। जिनमें करीब 600 खेल नर्सरी निजी शिक्षण संस्थानों तथा निजी खेल संस्थानों को अलाट की गई हैं। विभाग की मानें तो हिसार जिले के अग्रोहा, लांधरी, बालसमंद, जुगलान, किरमारा, सिसाय, खांडा खेड़ी, आदमपुर, चमार खेरा, सुलचानी, प्रभुवाला, धांसू में खेल नर्सरी स्थापित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। खिलाड़ियों को सरकार भत्ता भी मुहैया करवाएगी।

नर्सरियों में प्रशिक्षकों की यह होगी योग्यता
खेल एवं युवा मामले मंत्रालय द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान, एनआईएस पटियाला या इसके समकक्ष के संस्थान से डिप्लोमा होल्डर अथवा वरिष्ठ अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी को प्रशिक्षक के रूप में कोच की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। इसी प्रकार से एनआईएस सर्टिफिकेट कोर्स, एमपीईडी या शारीरिक शिक्षा से एमए, डीपीईडी, जूनियर अंतरराष्ट्रीय , राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी, जूनियर राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी, ग्रामीण राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी, आल इंडिया इंटर यूनिवर्सिटी प्लेयर या राष्ट्रीय महिला स्पोर्ट्स खिलाड़ी भी प्रशिक्षक की जिम्मेदारी निभा पाएंगे।

दो वर्ग में चयनित खिलाड़ी
– एक वर्ग में 8 साल से 14 साल तक के खिलाड़ी
– दूसरा वर्ग 15 से 19 साल के खिलाड़ी होंगे।
–खेल एंव युवा कार्यक्रम विभाग हरियाणा की ओर से एक अगस्त को खेल नर्सरियां शुरू करने के आदेश हुए है। सभी नर्सरियां अब शुरू करवाई जाएंगी।
जगबीर सिंह, जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी, हिसार।

न्यूज़ीलैंड
भारत
मैच रद्द
Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.

source

About Summ

Check Also

58 on Twitter Summersourcingshow Picture

Source by harukaokit