हरियाणा की महिला कोच का सनसनीखेज खुलासा: मुझे कहा गया- जिस देश जाना चाहो जाओ, 1 महीने का 1 करोड़ देंगे, मुं… – Dainik Bhaskar

हरियाणा के मंत्री पूर्व हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह पर जूनियर महिला कोच ने सनसनीखेज खुलासा किया है। महिला कोच ने कहा कि उन्हें फोन कॉल्स आ रही हैं। जिसमें कहा जा रहा है कि जिस देश जाना चाहती हो जाओ, एक महीने का एक करोड़ मिलेगा। बस अपना मुंह बंद रखो।
मंगलवार को चंडीगढ़ में जूनियर महिला कोच से सेक्टर 26 के पुलिस थाने में 8 घंटे पूछताछ की गई। इस दौरान जांच में शामिल पुलिस अधिकारियों ने 45 से अधिक सवाल पूछे।इसके बाद केस में जांच के लिए पीड़ित कोच का मोबाइल जब्त कर लिया। आज कोच के मजिस्ट्रेट के आगे बयान दर्ज होंगे।
चंडीगढ़ पुलिस को भी दी जानकारी
सेक्टर 26 पुलिस थाने में पूछताछ के दौरान जूनियर महिला कोच ने चंडीगढ़ पुलिस के आगे भी यह खुलासा किया कि उसे केस की पैरवी न करने के लिए किस तरह के लालच दिए जा रहे हैं। इस मामले को लेकर महिला कोच के वकीलों ने भी कुछ सबूत पुलिस को सौंपे हैं। महिला कोच ने कहा कि मुझ पर चुप रहने का दबाव डाला जा रहा है।
CM का बयान जांच को प्रभावित कर रहा
महिला कोच ने कहा कि हरियाणा CM मनोहर लाल का बयान जांच को प्रभावित करने वाला है। CM ने कहा था कि महिला कोच अनर्गल आरोप लगा रही हैं। सिर्फ आरोप लगाने से कोई दोषी नहीं हो जाता। इसकी जांच हो रही है और उसके बाद कार्रवाई होगी।
संदीप सिंह से पूछताछ नहीं कर रही पुलिस
पीड़िता के वकील दीपांशू ने बताया कि अभी तक हरियाणा के मंत्री संदीप सिंह से एक बार भी इस मामले में पूछताछ नहीं हुई है। जबकि जो धाराएं लगी हैं, उसके आधार पर चंडीगढ़ पुलिस को संदीप सिंह को तुरंत गिरफ्तार करना चाहिए। दीपांशू ने इस मामले में हरियाणा पुलिस जांच को प्रभावित कर रही है लगातार पीड़िता के पास फोन आ रहे हैं। पीड़िता के घर पर 3-4 बार हरियाणा पुलिस आ चुकी है।
किसी भी दबाव से नहीं डरती
हरियाणा के पंचकूला स्टेडियम में तैनात महिला कोच ने बताया कि उसे धमकियां मिल रही हैं, लेकिन वह किसी भी धमकी या दबाव से नहीं डरती। वह हर स्तर पर लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है। उसे किसी प्रकार के दबाव का डर नहीं लगता है। महिला कोच ने बताया कि उसे चंडीगढ़ पुलिस की जांच पर पूरा भरोसा है।
इससे पहले वह हरियाणा पुलिस की जांच कमेटी के सामने पेश होने से इनकार कर चुकी है। उसका कहना है कि हरियाणा पुलिस का इससे कुछ लेना-देना नहीं है क्योंकि पूरा वाकया चंडीगढ़ का है।
जांच के लिए ली 10 दिन की लीव
जूनियर महिला कोच ने कानूनी प्रक्रिया में शामिल होने के लिए 10 दिन का अवकाश लिया है। पीड़िता का कहना है कि लड़ाई लंबी है, इसके साथ ही अपने आत्मसम्मान को बचाने के लिए वह हर तरह से तैयार रहना चाहती है। महिला कोच ने बताया कि विवाद से जुड़े सभी सबूत उसने जुटा लिए हैं, कुछ पुलिस को सौंप दिए हैं। कुछ अभी बाकी हैं, जो जल्द ही पुलिस को सौंप दिए जाएंगे।
ये खबरें भी पढ़ें
हरियाणा की महिला कोच के पिता बोले:ट्रांसफर के बाद परेशान थी बेटी, संदीप सिंह को मंत्री पद से बर्खास्त कर सजा मिले

हरियाणा की महिला कोच के पिता ने मंत्री संदीप सिंह को बर्खास्त करने की मांग की। उनका कहना है कि ट्रांसफर के बाद ही बेटी परेशान थी। हालांकि उसके साथ क्या हुआ? इसका पता उन्हें भी प्रेस कान्फ्रेंस के बाद ही चला पूरी खबर पढ़ें
हरियाणा CM ने मंत्री संदीप पर चुप्पी तोड़ी:मनोहर लाल बोले- खेल विभाग से हटा दिया; पुलिस की जांच के बाद आगे की कार्रवाई
हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह और जूनियर महिला कोच के विवाद में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चुप्पी ने तोड़ी है। उन्होंने इस पूरे विवाद में कहा कि महिला कोच अनर्गल बयान दे रही है। आरोप लगाने से कोई दोषी साबित नहीं होता उसकी पुलिस छानबीन करती है। इसके बाद ही यह सिद्ध होता है कि जो आरोप लगाए गए हैं वह सही है या नहीं। पूरी खबर पढ़ें…
हरियाणा खेल मंत्री के विभाग छोड़ने की INSIDE STORY
हरियाणा में जूनियर महिला एथलीट कोच के आरोपों से घिरे खेल मंत्री संदीप सिंह को आरोप के पहले ही दिन विभाग छोड़ने को कहा गया था। सरकार चाहती थी कि विपक्ष को हावी होने का मौका न दें। वहीं यह भी उदाहरण पेश करें कि आरोप के साथ ही मंत्री ने विभाग छोड़ दिया पूरी खबर पढ़ें
Copyright © 2022-23 DB Corp ltd., All Rights Reserved
This website follows the DNPA Code of Ethics.

source

About Summ

Check Also

ECO_MASHIRO on Twitter Summersourcingshow Picture

Source by buswleqi