दुनिया: पाकिस्तान में हर तरफ कोहराम और 'न्यूक्लियर प्लांट्स में हथियार जमा कर रहा यूक्रेन' – Navjivan

Follow Us
बाजार की अपेक्षाओं के अनुरूप, स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) ने सोमवार को बेंचमार्क ब्याज दर को 100 आधार अंक से 17 प्रतिशत तक बढ़ा दिया- अक्टूबर 1997 के बाद से यह सबसे अधिक है। जियो न्यूज ने बताया- एसबीपी के गवर्नर जमील अहमद ने अगस्त में प्रभार संभालने के बाद अपनी पहली मौद्रिक नीति प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुलासा किया कि समिति ने देखा है कि मुद्रास्फीति के दबाव बने हुए हैं और व्यापक रूप से बने हुए हैं।

उन्होंने कहा- यदि ये अनियंत्रित रहते हैं, तो वे प्रत्याशित अवधि से अधिक समय तक उच्च मुद्रास्फीति अपेक्षाओं को पूरा कर सकते हैं, इसलिए मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने जोर देकर कहा कि मुद्रास्फीति की अपेक्षाओं को स्थिर करना और भविष्य में सतत विकास का समर्थन करने के लिए मूल्य स्थिरता के उद्देश्य को प्राप्त करना महत्वपूर्ण है।
रूसी विदेश खुफिया सेवा के निदेशक सर्गेई नारिशकिन ने सोमवार को कहा कि यूक्रेन की सेनाएं परमाणु ऊर्जा संयंत्रों (न्यूक्लियर पावर प्लांट) में पश्चिमी आपूर्ति वाली मिसाइलों और तोपों के गोले जमा कर रही हैं। आरटी की रिपोर्ट के अनुसार- उन्होंने दावा किया कि कीव संयंत्रों को गोला-बारूद के भंडार के लिए कवर के रूप में उपयोग कर रहा है। खुफिया सेवा की वेबसाइट पर जारी बयान के अनुसार, नारिशकिन ने कहा, विश्वसनीय जानकारी है कि यूक्रेनी सैनिक परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के क्षेत्र में पश्चिमी आपूर्ति वाले हथियारों और गोला-बारूद का भंडार कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हथियारों में अमेरिका निर्मित हिमार्स लॉन्चर और विदेशी वायु रक्षा प्रणालियों द्वारा उपयोग की जाने वाली मिसाइलों के साथ-साथ बड़े-कैलिबर तोपखाने के गोले शामिल हैं। नारिशकिन के अनुसार, घातक कार्गो से लदी कई कारों को दिसंबर के अंतिम सप्ताह के दौरान पश्चिमी यू्क्रेन के रोवनो परमाणु ऊर्जा संयंत्र में रेल द्वारा पहुंचाया गया था। वह इस पर भरोसा करते हैं कि रूसी सशस्त्र बल परमाणु ऊर्जा संयंत्रों पर हमला नहीं करेंगे क्योंकि उन्हें परमाणु आपदा के खतरे का एहसास है।
कनाडा के सबवे स्टेशन पर एक अज्ञात व्यक्ति ने कथित तौर पर एक सिख व्यक्ति के सिर पर वार किया, जिससे उसकी पगड़ी जमीन पर गिर गई, पुलिस ने यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों को पिछले सप्ताह हुई घटना के बाद ब्लोर-यॉन्ग टोरंटो ट्रांजिट कमीशन (टीटीसी) सबवे स्टेशन पर हमले की जानकारी मिली। घटनास्थल पर पहुंचने पर, पुलिस ने पाया कि एक व्यक्ति के सिर पर वार किया गया था, जिससे उसकी पगड़ी जमीन पर गिर गई।

टोरंटो पुलिस ने बयान में कहा कि संदिग्ध ने टीटीसी स्टेशन से जाने से पहले पीड़ित पर कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणियां कीं। पीड़ित की उम्र या धार्मिक संबद्धता पुलिस द्वारा जारी नहीं की गई थी, उसके सिर पर मामूली चोटें आई थीं। हालांकि, कनाडा में एक बहुसांस्कृतिक और बहुभाषी प्रसारक, ओमनी न्यूज की एक रिपोर्ट ने अपनी रिपोर्ट में पीड़ित की पहचान सिख के रूप में होने की पुष्टि की। संदिग्ध को आखिरी बार नीली टोपी और काली जैकेट पहने देखा गया था और उसके पास एक काला बैग था।
 शोधकर्ता एक ऐसी कोविड-19 वैक्सीन पर काम कर रहे हैं, जिसे लोग सुई से लेने के बजाय पी सकते हैं, म्यूकोसल टीकों पर उनका ध्यान केंद्रित हो रहा है, जिसमें नाक के टीके के साथ-साथ मुंह से लेने वाले टीके भी शामिल हैं। सीएनईटी की रिपोर्ट के अनुसार, क्यूवाईएनडीआर नाम के इस टीके ने अपने चरण 1 का क्लीनिकल परीक्षण पूरा कर लिया है और वर्तमान में अधिक विस्तृत, उन्नत परीक्षणों का संचालन करने के लिए अधिक धन का इंतजाम कर रहे हैं, जो वास्तव में टीके को बाजार में ला सकता है।

क्यूवाईएनडीआर के निर्माता, यूएस स्पेशियलिटी फॉम्र्युलेशन के संस्थापक काइल फ्लैनिगन ने कहा, क्यूवाईएनडीआर वैक्सीन को ‘किंडर’ कहा जाता है, क्योंकि यह वैक्सीन देने का एक आसान तरीका है। इसके अलावा, रिपोर्ट में कहा गया है कि न्यूजीलैंड से क्लीनिकल परीक्षण के आशाजनक परिणाम उम्मीद जताते हैं कि क्यूवाईएनडीआर अब चल रहे कोविड-19 वेरिएंट के खिलाफ सुरक्षा के लिए एक व्यवहार्य विकल्प होगा।
आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान में अब बिजली संकट देखने को मिल रहा है। पूरे पाकिस्तान की बिजली गुल हो गई है। जिसके बाद सोशल मीडिया पर मीम्स की बाढ़ आ गई है। ट्विटर पर कई यूजर्स ने अपने घरों में बिजली नहीं होने की बात साझा की। तभी से इंटरनेट पर हैशटैगपावरआउटरेज ट्रेंड कर रहा है। पाकिस्तान के मशहूर टीवी होस्ट और आरजे अनोशी अशरफ ने ट्वीट करते हुए लिखा, जबकि हम अपनी सीमाओं और हितों की रक्षा पर अरबों खर्च करते हैं, देश आधिकारिक तौर पर गैस, डॉलर और अब बिजली से बाहर हो गया है। हमारे पास वैसे भी शिक्षा या बुनियादी ढांचा कभी नहीं था। पाकिस्तान कुछ गिने-चुने परिवारों का धंधा है, बाकी हम भेड़-बकरियां हैं।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबकि, जुनैरा इनाम खान ने लिखा कि जैसा कि हम यहां एक राष्ट्रव्यापी बिजली आउटेज के साथ बैठे हैं और हमारे रिजव्र्स सिगल डिजिट तक पहुंच रहे हैं, क्या अब हम स्वीकार कर सकते हैं कि हम तेजी से नीचे आ रहे हैं और अगर देश भीतर से टूट रहा है तो हमारी सीमाओं पर पकड़ बनाने की क्षमता से कोई फायदा नहीं होगा?
आईएएनएस के इनपुट के साथ

Google न्यूज़, नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें
प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia

source

About Summ

Check Also

Crack Chicken Casserole – Plain Chicken Summersourcingshow Pict

Source by lunaticracers