खेल की खबरें: टीम इंडिया को बड़ा झटका, हॉकी विश्वकप से बाहर हुआ ये खिलाड़ी और WTC फाइनल की तारीख आई सामने! – Navjivan

Follow Us
भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में आमने सामने हो सकती है। इसकी बहुत ज्यादा संभावना है। ऑस्ट्रेलिया की टीम चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच गई है और भारत भी फाइनल के टिकट का सबसे मजबूत दावेदार है। भारत को चैंपियनशिप के फाइनल में एंट्री करने के लिए अगले महीने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जाने वाली 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में कम से कम 3 टेस्ट जीतने जरूरी है।
वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का खिताबी मुकाबला ओवल में खेला जाएगा, मगर किस दिन खेला जाएगा, इसकी तारीख आमने आ गई है। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार फाइनल 8 जून को खेला जाएगा। हालांकि आईसीसी ने अभी तक तारीख का ऐलान नहीं किया है, मगर सूत्र के अनुसार खिताबी मुकाबला 8 से 12 जून तक खेला जाएगा. बारिश के कारण अगर समय बर्बाद होता है तो उसके लिए रिजर्व डे भी रखा गया है।
भारत को रविवार को एफआईएच ओडिशा हॉकी पुरुष विश्व कप 2023 में न्यूजीलैंड के खिलाफ महत्वपूर्ण क्रॉसओवर मैच से पहले एक बड़ा झटका लगा, जब प्रमुख मिडफील्डर हार्दिक सिंह हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण टूर्नार्मेट से बाहर हो गए। हार्दिक सिंह पूल डी में भारत के पहले दो मैचों में मिडफील्ड में लाइववायर थे और 15 जनवरी को इंग्लैंड के साथ संघर्ष के दौरान हैमस्ट्रिंग की चोट का सामना करना पड़ा था। वेल्स के खिलाफ मैच के लिए युवा खिलाड़ी को आराम देने और बाद के आकलन के बाद, हार्दिक को अब बाहर कर दिया गया है। यह पुष्टि हॉकी इंडिया ने शनिवार को की।
हॉकी इंडिया ने यह भी बताया कि हार्दिक की जगह वैकल्पिक खिलाड़ी राज कुमार पाल लेंगे। मुख्य कोच ग्राहम रीड ने टीम प्रबंधन के फैसले के बारे में बात करते हुए कहा, ‘रविवार के मैच बनाम न्यूजीलैंड और उसके बाद के विश्व कप मैचों के लिए हार्दिक सिंह को भारतीय टीम में शामिल करने का मुश्किल फैसला हमें रातोंरात लेना पड़ा।’ पूल डी में दूसरे स्थान पर रहने के बाद भारत को क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के लिए रविवार को क्रॉसओवर मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ जीत दर्ज करनी होगी।
लीजेंड्स क्रिकेट लीग (एलएलसी) ने शनिवार को घोषणा की कि इंग्लैंड के 2019 के वनडे विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मोर्गन 27 फरवरी से आठ मार्च 2023 तक कतर में होने वाले आगामी संस्करण में खेलेंगे। इस प्रारूप में तीन टीमें इंडियन महाराजा, एशियन लॉयंस और वल्र्ड जायंट्स खेलती हैं। मोर्गन ने एलएलसी की आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा,”मैं लीजेंड्स लीग मास्टर्स का हिस्सा बनकर खुश हूं। मैं एलएलसी मैचों का अनुसरण कर रहा हूं और खेल में खिलाड़ियों की प्रतिबद्धता से प्रभावित हूं।” मोर्गन आयरलैंड के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में खेले, उन्होंने फिर इंग्लैंड के लिए स्विच किया। उन्हें 2012 में टी20 कप्तान और 2014 में वनडे कप्तान बनाया गया। इंग्लैंड की टीम 2015 विश्व कप में ग्रुप चरण में बाहर हो गयी। लेकिन उसके बाद इंग्लैंड की टीम में चमत्कारिक बदलाव आया है और टीम ने 2019 में अपनी मेजबानी में लॉर्डस में वनडे विश्व कप जीता।
जून 2022 में अंतर्राष्ट्रीय संन्यास की घोषणा करने तक मोर्गन ने 225 वनडे में 6957 रन, 115 टी20 में 2458 रन और 16 टेस्टों में 700 रन बनाये हैं। वह इस समय एसए20 के पहले संस्करण में पार्ल रॉयल्स की तरफ से खेल रहे हैं। लीजेंड्स लीग क्रिकेट कतर में अपने अगले संस्करण के लिए तैयार हो रहा है। लीग में अपनी भागीदारी की पुष्टि करने वाले लीजेंड्स खिलाड़ियों में गौतम गंभीर, इरफान पठान, शाहिद आफरीदी, शोएब अख्तर, ब्रेट ली, शेन वाटसन, क्रिस गेल और लेंडल सिमंस शामिल हैं।
एमआई केप टाउन के उभरते सितारे डेवाल्ड ब्रेविस ने कहा है कि वह मुम्बई इंडियंस के टीम साथियों रोहित शर्मा और सूर्यकुमार यादव को अपना आदर्श मानते हैं और उन्होंने उनसे काफी कुछ सीखा है। ब्रेविस ने मौजूदा एसए20 के उद्घाटन मैच में तेज तर्रार 70 रन बनाये थे। ब्रेविस ने दक्षिण अफ्रीका टी20 लीग में 117 के स्ट्राइक रेट पांच मैचों में 133 रन बनाये हैं। एमआई केप टाउन के पार्ल रॉयल्स के खिलाफ मैच की पूर्वसंध्या पर ब्रेविस ने कहा कि वह एमआई परिवार की दो टीमों का प्रतिनिधित्व करते हुए खुश हैं। मुम्बई इंडियंस ने उन्हें पिछले सत्र में अपनी टीम में शामिल किया था।

फ्रेंचाइजी की शनिवार को जारी विज्ञप्ति के हवाले से ब्रेविस ने कहा, “मेरा पसंदीदा रंग नीला है। इसलिए इस परिवार का हिस्सा होना अद्भुत बात है। मुम्बई की तरह केप टाउन में भी परिस्थितियां शानदार हैं।” ब्रेविस ने एक सवाल के जवाब में कहा, “मैं काफी खिलाड़ियों को अपना आदर्श मानता हूं। उदहारण के लिए रोहित शर्मा और सूर्य कुमार तथा अन्य सभी बड़े खिलाड़ी, मैं इन सभी लीजेंड के साथ खेलना पसंद करता हूं।” उन्होंने साथ ही कहा, “मैंने आईपीएल से काफी कुछ सीखा है। इन सितारों से मुलाकात का अहसास ही अलग था लेकिन मेरी कोचिंग टीम ने अहसास दिलाया कि मैं इस परिवार से सम्बन्ध रखता हूं और सलाह दी कि मुझे इन सितारों से अभिभूत नहीं होना चाहिए और मुझे लगता है कि इससे मुझे काफी मदद मिली।”
बांग्लादेश और श्रीलंका के खिलाफ हाल की वनडे सीरीज जीतने ने भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को भारत को इस साल होने वाले वनडे विश्व कप को जीतने के लिए प्रबल दावेदार बताने के लिए प्रेरित किया है लेकिन अनुभवी ऑफ स्पिनर ने साथ ही रोहित शर्मा की टीम को चेताया है कि वह अपनी तैयारी में थोड़ी हलकी रह जायेगी क्योंकि उसने हाल में अपने वनडे ज्यादा संख्या में स्थलों पर खेले हैं जबकि ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जैसी टीमों ने अपने अंतर्राष्ट्रीय मैचों के लिए 4-5 ग्राउंड ही चुने हैं। अश्विन ने कहा कि 2011 विश्व कप के बाद से सभी टीमें घरेलू विश्व कप (2015 में ऑस्ट्रेलिया और 2019 में इंग्लैंड) जीतने में सफल रही हैं और 14-4 के जीत/हार रिकॉर्ड के साथ भारत खिताब जीतने का प्रबल दावेदार है।

अश्विन ने यू ट्यूब चैनल पर एक वीडियो में कहा, “भारत का 2019 विश्व कप के बाद से रिकॉर्ड प्रभावशाली है। भारत ने इस दौरान हर उस टीम के खिलाफ जीत हासिल की है जिसने इस दौरान भारत का दौरा किया है। इन टीमों में वेस्ट इंडीज, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका शामिल हैं। भारत का 2019 विश्व कप के बाद से 14-4 का घरेलू रिकॉर्ड है जो भारत में 78 से 80 प्रतिशत जीत रिकॉर्ड है।” हालांकि अश्विन ने साथ ही कहा, “ये सभी 18 वनडे हर बार अलग-अलग स्थलों पर हुए हैं। यदि आप इसकी तुलना ऑस्ट्रेलिया या इंग्लैंड से करें तो उन्होंने अपने सभी टेस्ट मैच चार-पांच स्थलों पर खेले हैं और वनडे दो-तीन स्थलों पर खेले गए हैं और वे इन स्थलों को अच्छी तरह जानते हैं।”
(IANS के इनपुट के साथ)
Google न्यूज़, नवजीवन फेसबुक पेज और नवजीवन ट्विटर हैंडल पर जुड़ें
प्रिय पाठकों हमारे टेलीग्राम (Telegram) चैनल से जुड़िए और पल-पल की ताज़ा खबरें पाइए, यहां क्लिक करें @navjivanindia

source

About Summ

Check Also

Summersourcingshow Picture

Source by sadiemae1224